What is vitamin B5 in Hindi -विटामिन B5 के स्रोत और फायदे

What is vitamin B5 :- और सभी विटामिन की तरह विटामिन B5 भी शरीर के लिए बहुत उपयोगी होता है | ये हमारे शरीर में तनाव को तनाव को कम करता था साथ ही साथ हार्मोन्स का भी स्तर को बनाये रखता है | ह्रदय को स्वथ्य रखने में भी विटामिन B5 बहुत सहायक होता है |

बालो को मजबूत करने , थकान कम करने और शरीर की उर्जा बढ़ाने में भी विटामिन B5 मददगार साबित होता है |इसके साथ साथ ये हमारे त्वचा को भी खुबसूरत और जवां रखता है |

इन्ही सारी खूबियों की बजह से विटामिन B5 के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है जिसमे What is vitamin B5 |इसके स्रोत, इससे होने वाले फायदे , इसकी कमी से होने वाले रोग आदि के बारे में जानेंगे |

पढ़े :-(तुलसी खाने के अद्भुत फायदे )

विटामिन B5 क्या है | What is vitamin B5 in Hindi

विटामिन और खनिज में शरीर के लिए विटामिन B5 को भी शामिल किया गया है | अन्य विटामिन B समूह की तरह विटामिन B5 भी पानी में घुलनशील होता है | विटामिन B5 हमारे शरीर में मौजूद वसा और कार्बोहाइड्रेट को उर्जा के रूप में परिवर्तित कर देता है | यह विटामिन बालो, आँखों , त्वचा के स्वास्थ्य के जरुरी होता है | इस विटामिन के बारे में बहुत कम लोग जानते है क्यूंकि इस इसकी कमी से होने वाले बीमारी के मामले कम सामने आते है |

विटामिन B5 का रासायनिक नाम paintothenic acid है | इस शब्द की “पैंटोऊ” से लिया गया है जो एक ग्रीक शब्द है | पैंटोऊ का शाब्दिक अर्थ होता है जो हर जगह मौजूद हो | विटामिन B5 लगभग सभी खाद्य पदार्थ में पाया जाता है |

विटामिन B5 के स्रोत | Sources of Vitamin B5 in Hindi

विटामिन B5 का सबसे अच्छा स्रोत आपके आहार का खाद्य पदार्थ होता है | साथ ही साथ आप दवाओ के रूप में भी ले सकते है | आइये जानते है की विटामिन B5 का मुख्य स्रोत क्या है |

  1. मशरूम :- मशरूम एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसमे सारी विटामिन पाई जाती है | इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है | 100 ग्राम मशरूम में तक़रीबन 3.90 मिली ग्राम विटामिन B5 पाया जाता है | विटामिन B5 सभी तरह की मशरूम में पाया जाता है | लेकिन ऐसा हो सकता है की अलग अलग में मशरूम में विटामिन B5 की मात्रा अलग अलग हो | ऐसा मशरूम जो जंगल में पाए है वो जहरीले होते है और उससे जान जाने का खतरा बना रहता है | इसीलिए ऐसे मशरूम को खाने से बचना चाहिए |
  2. मछली :- मछली में भी विटामिन B5 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है | मछली में भी कई तरह के पोषक तत्व और प्रोटीन पाए जाते है जो आपके स्वस्थ्य के लिए लाभदायक होता है |मछली से बालो और आँखों की बीमारियों को दूर किया जा सकता है | मछली में विटामिन B5 मौजूद होने के कारण दिमाग को तेज़ करता है और कैंसर से भी बचा जा सकता है | मछली मे विटामिन की प्रचुर मात्रा हमारे शरीर की उर्जा बढ़ाने में मदद करता है |
  3. अंडा :- अंडा को भी विटामिन B5 का मुख्य स्रोत माना जाता है | अंडा में विटामिन के अलावा प्रोटीन भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है |अगर आप एक अंडा खाते है तो उसमे करीबन 0.70 मिलीग्राम विटामिन B5 मिलता है |इसलिए अपने मुख्य आहार में अंडे का सेवन रोज करना चाहिए , ताकि विटामिन B5 की कमी से होने वाले रोगों से बचा जा सके |
  4. शकरकंद :- विटामिन B5 की कुछ भाग आप शकरकंद के द्वारा भी प्राप्त कर सकते है | इसमें वसा बेहद कम और कैलोरी अधिक मात्रा में पाया जाता है | एक भुनी हुई शकरकंद से आप लगभग 1.01 मिलीग्राम विटामिन B5 प्राप्त कर सकते है | अपने खाने के आहार में इसे लेने के बाद आप विटामिन B5 की कमी के मात्रा को पूर्ति कर सकते है |
  5. सूरजमुखी के बीज :- सूरजमुखी के बीज से आप कई तरह के खनिज और विटामिन प्राप्त कर सकते है | 100 ग्राम सूरजमुखी के बीज से आप लगभग 7.05 मिलीग्राम विटामिन B5 प्राप्त कर सकते है | सूरजमुखी के बीज के अलावा आलसी के बीज और कद्दू के बीज में भी पाया जाता है लेकिन सूरजमुखी के बीज के मुकाबले कम पाया जाता है |

इसके अलावा और भी ऐसे खाद्य पदार्थ है जिसमे विटामिन B5 पप्रचुर मात्रा में पाया जाता है | जैसे – आलू , बिन्स , मटर , दाल , चिकन आदि में विटामिन B5 पाया जाता है |

यह भी पढ़े :- (विटामिन D से हमे क्या क्या लाभ होता है)

विटामिन B5 के क्या क्या फायदे है | Benefits of vitamin B5 in hindi

विटामिन B5 हमारे शरीर को कई तरह से फायदे देते है |यह शरीर के बहुत उपयोगी होता है | शरीर की उर्जा और शारीरिक काम के लिए विटामिन B5 बहुत महत्ब्पूर्ण है | नीचे इससे होने वाले फायदे के बारे में बताया गया है |

  1. ह्रदय को स्वस्थ्य रखना :- सारे जीव जंतु एवं मानव में सबसे महत्ब्पूर्ण अंग ह्रदय होता है | यह सबसे महत्ब्पूर्ण अंगो में से एक होता है | एक ह्रदय ही है जो पोषक तत्वों को रक्त के माध्यम से शरीर के सभी हिस्सों तक पहुचाया जाता है | और इसके लिए ह्रदय का स्वस्थ्य रहना जरुरी होता है | ह्रदय को स्वस्थ्य रखने में विटामिन B5 महत्ब्पूर्ण भूमिका निभाता है |
  2. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना :- विटामिन B5 हमारे शरीर में होने वाले बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है | ये रोगी के प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता है क्यूंकि सभी तरह के पोषक तत्व और गुण मौजूद होते है | ये विटामिन शरीर और मस्तिष्क जैसे अंगो को ठीक करने का कार्य करता है |
  3. घाव भरने में :- रिसर्च से पता चला है की विटामिन B5 की मौजूदगी के कारण शरीर के घाव जल्दी ठीक हो जाते है | क्यूंकि इसमें घाव भरने के सारे गुण मौजूद होते है | विटामिन B5 शरीर से बह रहे खून को भी रोकने का काम करता है |
  4. बालो और त्वचा को स्वस्थ्य रखना :- विटामिन B5 शरीर में हार्मोन्स के स्तर को बनाये रखता है | इसी के कारण आपका बाल और त्वचा स्वस्थ्य रहता रहते है | विटामिन B5 के द्वारा “पिगमेंटेशन “ जो बालो में होने वाले बीमारी है , उससे सुरक्षा प्रदान करता है |
  5. तनाव को कम करना :- अवसाद और चिंता जैसी समस्या विटामिन B5 की कमी से हो सकती है | इसीलिए ये सब जैसी समस्या को दूर करने के लिए विटामिन B5 युक्त भोजन और विटामिन B5 की दवाइयों का सेवन करने का सलाह दिया जाता है | विटामिन B5 हमारे मूड को बनाये रखने में भी मदद करता है जिसके कारण मन शांत रहता है |

 विटामिन B5 की कमी के लक्षण और नुकसान | Deficiency Symptom of vitamin B5 in Hindi

अध्ययन में पता चला है की विटामिन B5 की कमी से उल्टी , कपकपी , झुनझुनाहट जैसे लक्षण पाए जाते है | पैरो में जलन के लक्षण भी विटामिन B5 की कमी के द्वारा देखा गया है | इसीलिए ज्यादातर पैरो में जलन के लिए डॉक्टर विटामिन B5 लेने की सलाह देते है | विटामिन B5 की कमी के कुछ लक्षण निचे दर्शाए गए है

  • विटामिन B5 की कमी से दीर्घकालीन थकान महसूस हो सकती है
  • विटामिन B5 की कमी से बुद्धि का कम विकास होना , चक्कर आना , त्वचा सम्बन्धी रोग आदि के लक्षण देखने को मिलते है
  • विटामिन B5 की कमी से low ब्लड प्रेशर , low ब्लड सुगर आदि जैसी समस्या उत्पन्न हो जाती है |
  • विटामिन B5 की कमी से पेट में दर्द , कब्ज आदि जैसी बीमारियों का घर होना हो सकता है

निष्कर्ष :- मैं आशा करता हूँ आपको मेरी ये पोस्ट Sources of vitamin B5 अच्छी लगी होगी | अगर मेरी ये पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी तो इसे like करे , शेयर करे ( फॅमिली , दोस्त ) में ताकि उनको भी ये जानकारी मिल सके | इसी तरह की जानकारी के लिए आप मेरे वेबसाइट www.24hourhindi.in पर विजिट कर सकते है |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यबाद !!!

Leave a Comment