What is vitamin B3 in Hindi – विटामिन के स्रोत और फायदे

What is vitamin B3 :-विटामिन B3 विटामिन B समूह का तीसरा विटामिन है | और यह भी शरीर के उतना ही उपयोगी होता है जितना की और सभी विटामिन | विटामिन B3 एक कार्बनिक यौगिक होते है जो शरीर में उत्पन्न नहीं होता है इन्हें भोजन के रूप में ग्रहण किया जाता है |

विटामिन B3 का रासायनिक नाम निकोटिनैमाइड है | विटामिन B3 हार्ट पेशेंट को के लिए काफी अच्छा होता है | यह हार्ट पेशेंट के हेल्थ को improve करता है |तो आइये What is vitamin B3 को विस्तार में जानते है |

विटामिन B3 क्या है | What is vitamin B3 in Hindi

हमारे शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए पौष्टिक आहार की अवस्यकता होती है | जब भी हम भोजन ग्रहण करते है तब हमारा शरीर भोजन से विटामिन और खनिज को ग्रहण करता है जिससे हमारे शरीर को उर्जा प्राप्त होती है |विटामिन B की समूह में विटामिन ३ का का भी एक विशेष स्थान है |

पढ़े : गले में ज्यादा दिन की खरास हो सकती है कैंसर के लक्षण ,इससे कैसे बचना चाहिए ( पढ़िए )

विटामिन B3 को हम “नियासिन “ के नाम से भी जानते है |यह पाचन तंत्र , मस्तिष्क , त्वचा आदि को अपना काम सही ढंग से करने में मदद करता है |यह 200 से भी ज्यादा इन्जाइम को भी सही तरीके से काम करने में मदद करता है |

विटामिन B3 का मुख्य स्रोत कहाँ कहाँ से है | Sources of vitamin B3 in Hindi

विटामिन B3 को ज्यादातर हम पौष्टिक आहार के रूप में ग्रहण करते है |यह खाद्य पदार्थ के रूप में हमारे शरीर की आवस्यकता को पूरा करने में सहायता प्रदान करता है | आइये जानते है की ऐसा कौन कौन से पदार्थ है जिसमे विटामिन B3 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है |

  1. मशरूम:- मशरूम में विटामिन B3 की अधिक मात्रा पाई जाती है |100 ग्राम मशरूम खाने से आपको लगभग 14 मिलीग्राम विटामिन B3 की प्राप्ति होती है | इससे कैंसर होने की सम्भावना कम हो जाती है |
  2. मछली :- विटामिन B3 को ग्रहण करने का सबसे ज्यादा महत्ब्पूर्ण साधन मछली को माना जाता है|अन्य मछलियों के मुकाबले टूना मछली में अधिक मात्रा में विटामिन B3 पाया जाता है |100 ग्राम टूना मछली से आपको लगभग 22.2 मिलीग्राम विटामिन B3 मिलता है |
  3. राजमा :- विटामिन B3 की जरूरतों को पूरा करने के लिए राजमा का भी इस्तेमाल किया जाता है | अन्य खाद्य पदार्थ के मुकाबले राजमा में कम विटामिन B3 पाया जाता है लेकिन जब इसे आप हरी सब्जी के साथ बनाते है तो विटामिन B3 की मात्रा बढ़ जाने की सम्भावना रहती है |
  4. मूंगफली :- रोजाना विटामिन B3 की जरूरतों को पूरा करने के लिए मूंगफली बहुत ज्यादा सफल है |भुनी हुई मूंगफली की 100 ग्राम आपको लगभग 13.8 मिलीग्राम विटामिन B3 की प्राप्ति होती है |भुनी हुई मूंगफली से आप कैलोरी भी प्राप्त कर सकते है |
  5. मटर :- शाकाहारी लोग अपनी विटामिन B3 की पूर्ति मटर के द्वारा भी प्राप्त करते है | इसमें करीब 100 ग्राम मटर में 2.1 मिलीग्राम विटामिन B3 पाया जाता है | मटर को आप सब्जी में प्रयोग करके आप इसके विटामिन B3 की स्तर को बढ़ा सकते है |
  6. सूर्यमुखी का बीज :- सूरजमुखी के बीज में और तरह तरह के पौषक तत्व पाया जाता है | इसके 100 ग्राम बीज से तक़रीबन 8.3 मिलिओग्राम विटामिन B3 प्राप्त होता है |

इसके अलावा आप कद्दू के बीज , तिल के बीज , शिमला मिर्च , चिकन , मीट , कॉफी , आलू आदि सब में विटामिन B3 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है |

पढ़े :- क्यों जरुरी होता है ह्म्लोगोके लिए विटामिन B1 |

विटामिन B3 से क्या क्या फायदे होते है ? Benefits of vitamin B3 in Hindi

अगर फायदे और लाभ की बात करे तो विटामिन B3 से आपको कई तरह के फायदे होते है जिसकी जानकारी आपको नीचे बताया जा रहा है –

  1. गठिया दर्द कम करने में :- गठिया के दर्द को आप विटामिन B3 की मदद से ठीक कर सकते है | इसके लिए विटामिन B3 बहुत असरदार होता है |यह शरीर में रक्त के प्रवाह में महत्ब्पूर्ण भूमिका निभाता है | इसी बजह से विटामिन B3 गठिया के दर्द से ग्रसित रोगी को दिया जाता है ताकि दर्द से प्रभावित हिस्से में रक्त का प्रवाह हो सके | जोड़ो के लचीलेपन को बनाये रखने में भी विटामिन B3 सहायक होता है |इसलिए अपने रोज के आहार में विटामिन B3 युक्त आहार को शामिल करे |
  2. ह्रदय रोगियों के लिए :- विटामिन B3 की ज्यादा मात्रा में सेवन करने से कोलेस्ट्रोल में बढ़ोतरी होती है जिसके कारण ह्रदय में रक्त पहुचाने वाले तंत्रिका तंत्र रुक जाता है या बंद हो जाता है | इन सब से बचने के लिए आहार के माध्यम से विटामिन B3 लेना चाहिए | इतना ही नहीं विटामिन B3 शरीर के लिए कोलेस्ट्रोल बढ़ाने में मदद करता है |इसके अलावा जिनको low BP, दिल का दौरा आदि ह्रदय से सम्बंधित कोई भी परेशानी होती है तो इस समय विटामिन B3 बहुत सहायक माना जाता है |
  3. त्वचा सम्बन्धी उपचार :- त्वचा में कई तरह की बीमारी भी विटामिन B3 की कमी से हो सकता है |इसकी कमी से जगह जगह त्वचा का फट जाना , झुर्रिया आना आदि बीमारी उत्पन्न होना शुरू हो जाता है | इसलिए त्वचा सम्बन्धी बीमारी को रोकने के लिए विटामिन B3 दिया जाता है ताकि त्वचा स्वस्थ्य रहे और इन सभी बीमारी से बचे |

विटामिन B3 के कमी के क्या क्या लक्षण है ? deficiency of vitamin B3 in Hindi

अगर आप विटामिन B3 की सेवन कर रहे है तो डॉक्टर के द्वारा बताया मात्रा के अनुसार ही सेवन करना चाहिए | विटामिन B3 के कमी से होने वाले रोगों के लक्षण को निम्न प्रकार से पता कर सकते है |

  1. चक्कर आना
  2. स्किन एलर्जी
  3. त्वचा का लाल होना
  4. दिल का दौरा पड़ना
  5. खुजली होना
  6. उल्टी होना

अगर आपको ऐसा कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे | कई मामलो में विटामिन B3 की अधिकता के कारण भी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है |डॉक्टर सिर्फ उन लोगो को ये विटामिन लेने की सलाह देते है जो हाई ट्राइग्लिसराइड के मरीज हो | इसीलिए इस तरह की अगर शंका हो तो आप डॉक्टर से एक बार जरुर संपर्क करे |

विटामिन B3 की कमी/ अधिकता से होने वाला नुकसानSide effects of vitamin B3 in Hindi

विटामिन B3 की कमी या अधिकता से आपको गठिया दर्द , ह्रदय सम्बन्धी , त्वचा सम्बन्धी रोग का सामना करना पड़ सकता है | जो आगे चलकर बहुत ही घातक साबित हो सकता है | अगर इस तरह के लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे और डॉक्टर की देखरेख में ही इलाज कराये |

निष्कर्ष :- इस आर्टिकल में अपने पढ़ा की क्या होता है विटामिन B3 ? स्रोत , फायदे , और इसके कमी से होने वाले रोग और नुकसान के बारे में | मेरी ये पोस्ट आपको अच्छी लगी तो आप इसे like करे , शेयर करे और अपने दोस्तों, अपने फॅमिली में भी शेयर करे ताकि उनको भी ये जानकारी मिल सके | इसी तरह की और जानकारी के लिए आप मेरे वेबसाइट www.24hourhindi.in को विजिट कर सकते है |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यबाद [email protected]

Leave a Comment