What is vitamin B12 in Hindi-विटामिन B12 के स्रोत , फायदे और कमी के लक्षण

 23 total views,  1 views today

What is vitamin B12 :- शरीर को स्वस्थ्य रखने में विटामिन की बहुत जरुरत होती है |साथ ही साथ मिनरल , प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट आदि की आवश्यकता होती है |ज्यादातर विटामिन आवश्यक खाद्य पदार्थ से पूर्ति कर सकते है | विटामिन B12 ऐसा विटामिन होता है जो शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है |

विटामिन B12 मस्तिष्क , नसों और शरीर के अन्य हिस्सों को सही ढंग से कार्य और विकास के लिए बहुत आवश्यक होता है | जानते है की ( What is vitamin B12 ) विटामिन B12 क्या है और यह हमारे लिए क्यों जरुरी होता है ? इसके स्रोत, फायदे और इसकी कमी के लक्षण और नुकसान के बारे में |

यह भी पढ़े :-विटामिन B9 हमारे शरीर के लिए क्यों आवश्यक है , कही आप इसके शिकार तो नहींपूरा पढ़िए )

Content :

  1. विटामिन B12 क्या है ? what is Vitamin B12 in Hindi
  2. विटामिन B12 हमारे लिए क्यों जरुरी होता है ?
  3. विटामिन B12 के स्रोत – Sources of Vitamin B12 in Hindi
  4. विटामिन B12 के फायदे – Benefits of vitamin B12 in Hindi
  5. विटामिन B12 के कमी के लक्षण और नुकसानdeficiency symptoms of vitamin B12 in Hindi

विटामिन B12 क्या है ? what is Vitamin B12 in Hindi

विटामिन B12 को Cobalamin के नाम से भी जाना जाता है |विटामिन B12 ऐसा विटामिन है जिसमे कोबाल्ट पाया जाता है | विटामिन B12 शरीर को स्वस्थ्य और संतुलित कार्य प्रणाली के लिए जरुरी होता है |शरीर में तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ्य रखने में विटामिन B12 बहुत जरुरी होता है |इससे ह्रदय रोगी को स्वस्थ्य रखने में काफी सहायक है |यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओ का निर्माण करता है | विटामिन B12 रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाता है | और यह शरीर में उर्जा का संचार करता है |

विटामिन B12 हमारे लिए क्यों जरुरी होता है ?

आमतौर पर जो अंडा आदि का सेवन नहीं करता है उसमे विटामिन B12 की कमी हो सकती है | इसकी कमी को दूर करने के लिए विटामिन B12 युक्त अनाज का सेवन कर दूर कर सकते है |ज्यादातर लोग दूध से बना उत्पाद , मांसाहारी भोजन के जरिये विटामिन B12 प्राप्त कर सकते है | इसकी कमी से शरीर में कई तरह परेशानी उत्पन्न हो जाती है | जो हमारे स्वस्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है | इसीलिए इस तरह के दुस्प्रभाव को दूर करने के लिए विटामिन B12 युक्त आहार का सेवन किया जाता है |

विटामिन B12 के स्रोत – Sources of Vitamin B12 in Hindi

विटामिन B12 को आप मांस , मछली ,चिकन, दूध , अंडा आदि का सेवन कर प्राप्त कर सकते है| ज्यादातर विटामिन B12 आप पशु आधारित फूड्स के द्वारा प्राप्त कर सकते है | पेड़ पौधों में विटामिन B12 नहीं पाया जाता है इसलिए जो शाकाहारी लोग होते है उसमे विटामिन B12 की कमी पाई जाती है | आइये कुछ ऐसे स्रोत पर नजर डालते है जिसमे विटामिन B12 की भरपूर मात्रा पाई जाती है |

  1. दूध के बना उत्पाद :- दूध से बने कोई भी उत्पाद में विटामिन B12 भरपूर मात्रा में पाई जाती है | 1 लीटर दूध में लगभग 4.5 माइक्रोग्राम विटामिन B12 पाया जाता है | दही, खोया , मलाई आदि दूध से बने उत्पाद शाकाहारियो के लिए एक अच्छा विकल्प माना जाता है |
  2. मांस :- मांस उत्पाद जैसे -चिकन ,मटन आदि में विटामिन B12 की सबसे ज्यादा पाई जाती है|चिकन में लगभग 0.3 माइक्रोग्राम विटामिन B12 पाया जाता है | पके हुए खस्सी के कलेजी में 55 माइक्रोग्राम के लगभग विटामिन B12 पाया जाता है |
  3. अंडा :- पकाए हुए 2 अंडो में लगभग 1.5 माइक्रोग्राम विटामिन B12 पाया जाता है |इन सब के अलावा आप शाकाहारी बंद पेय पदार्थ , आनाज के द्वारा भी आप विटामिन B12 की लगभग कुछ मात्रा पा सकते है |
  4. समुंदरी आहार :- समुंदरी आहार जैसे मछली से भी आप विटामिन B12 आसानी से पा सकते है | क्यूंकि यह विटामिन B12 का अच्छा स्रोत माना जाता है |
  5. सुप्प्लिमेंट्री के तौर पर आप विटामिन B12 की मेडिसिन डॉक्टर के द्वारा बताये गए अनुसार ही करना चाहिए | इसलिए इन्हें लेने से पहले एक बार डॉक्टर से जरुर संपर्क करे |

विटामिन B12 के फायदे – Benefits of vitamin B12 in Hindi

खानपान की गड़बड़ी के कारण हमारे शरीर की जरुरी पोषक तत्व में कमी आ जाती है | विटामिन B12 के इस्तेमाल करने से हमारे शरीर के लिए लाभदायक है | जिसे नीचे विस्तार से बताया गया है

  1. तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ्य रखने में :- विटामिन B12 के द्वारा हम अपने तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ्य बनाये रखता है | नयूरोलोजिकल की समस्या विटामिन B12 की कमी से उत्पन्न होती है |जैसे – हाथ पैर में झनझनाहट , सही ढंग से नींद नहीं आना , त्वचा का सुन्न पड़ जाना आदि | नर्वस system को स्वस्थ्य रखने में विटामिन B12 की भूमिका अहम् होती है |
  2. ह्रदय रोगियों के लिए :- एक शोध के अनुसार वैसे लोग जो शाकाहारी आहार ग्रहण करते है मांसाहारी आहार ग्रहण करने वाले के मुकाबले कम ह्रदय रोगियों को देखा गया है |”कुछ ऐसे शोध भी हुए है जिसमे पता चला है की जो हमेशा शाकाहारी भोजन का सेवन करते है उनमे ह्रदय रोग का खतरा बढ़ जाता है |जिन लोगो को शाकाहारी भोजन के द्वारा ह्रदय रोग उत्पन्न होते है उन्हें विटामिन B12 के जरिये उसके स्तर को संतुलित किया जाता है |
  3. बजन कम करने में :- विटामिन B12 आपके शरीर में मेताबौलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है जिसके कारण शरीर में कैलोरी बर्न होती है जिसके कारण खाना फैट के रूप में जमा नहीं होता है | फैट को कम करने में विटामिन B12 बहुत सहायक होता है |
  4. त्वचा को स्वथ्य रखने में :- सूर्य के प्रकाश से आ रही पराबैगनी किरणों के कारण हमारे शरीर की त्वचा का रंग फीका होने लगता है | और जलन जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है | इस स्थिति folic acid के साथ विटामिन B12 लगाने से इस समस्या से निजात पा सकते है |
  5. बालो को स्वस्थ्य रखने में :- विटामिन B12 के द्वारा आप बालो में होने वाली समस्याओ से बचा जा सकता है | शोध में पाया गया है की बालो में सभी प्रकार की समस्या उत्पन्न होती है वो विटामिन B12 के कमी के कारण उत्पन्न होती है | विटामिन B12 के कमी के कारण ही आपके बालो सफ़ेद हो जात्ते है | इसीलिए डॉक्टर इस समस्या को दूर करने के लिए विटामिन B12 लेने की सलाह देता है |

विटामिन B12 के कमी के लक्षण और नुकसानdeficiency symptoms of vitamin B12 in Hindi

शरीर में होने वाले विटामिन B12 की कमी के लक्षण को आप आसानी से पहचान सकते है | जिसे नीचे विस्तार से बताया गया है |

  • थकान महसूस होना
  • कमजोरी होना
  • भूख न लगना
  • वजन में कमी आना
  • कब्ज जैसी परेशानी आना
  • हमेशा चक्कर आना
  • त्वचा का लाल हो जाना
  • त्वचा में जलन जैसी समस्या उत्पन्न होना , आदि

ये सभी लक्षण शरीर में अधिक विटामिन B12 की कमी के कारण ऐसी दिखयी देता है | और उसके व्यवहार में भी बदलाव आना शुरू हो जाता है जैसे –

  • शरीर की संतुलन बनाये रखने में कठिनाई होना
  • भ्रम की स्थिति पैदा होना
  • याददास्त का कमजोर होना , आदि

इस लेख को आप विस्तार से समझ गए होंगे की Sources of vitamin B12 , विटामिन B12 का क्या उपयोग होता है ? विटामिन B12 हमारे लिए क्यों जरूरी है ? इसके स्रोत , फायदे और इसकी कमी लक्षण और नुकसान | यह स्वस्थ्य के लिए कितना महत्ब्पूर्ण है | अगर आपके मन में विटामिन B12 को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप मेरे वेबसाइट www.24hourhindi.in के कमेंट बॉक्स में आप अपना विचार रखकर पूछ सकते है |

अस्वीकरण :- इस लेख में दी गयी जानकारी सिर्फ शैक्षणिक उद्देश्य के लिए |यह लेख किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक के द्वारा डी जाने वाली निदान या इलाज का विकल्प नहीं है | इसीलिए इस तरह की किसी भी प्रकार की बीमारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क करे और उन्हें सलाह ले |

1 thought on “What is vitamin B12 in Hindi-विटामिन B12 के स्रोत , फायदे और कमी के लक्षण”

Leave a Reply

%d bloggers like this: