What is vitamin B1 in Hindi -विटामिन B1 के स्रोत और फायदे

What is vitamin B1 :- हमारे शरीर की सारी क्रिया बिटामिन और खनिज के द्वारा ही पूर्ति होती है | विटामिन शरीर को क्रियाशील बनाने में मदद करती है | अगर हम विटामिन B1 की बात करे तो ये हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा मददगार साबित होता है |विटामिन B1 का दूसरा नाम हम थायमिन के नाम से भी जानते है |

विटामिन B1 हमारे शरीर में मौजूद कार्बोहाइड्रेट को उर्जा के रूप में परिवर्तन कर देता है| विटामिन B1 मांसपेशियों , ह्रदय रोग को ठीक करने में बहुत ज्यादा महत्ब्पूर्ण भूमिका निभाता है | आइये जानते है What is vitamin B1 के बारे में |

विटामिन B1 क्या है | What is vitamin B1 in Hindi

विटामिन B1 के द्वारा हमारे शरीर के सारे उत्तक कार्य करते है | cविटामिन B1 को हम खाना एवं दवाई के रूप में प्राप्त कर सकते है |इसकी कमी से हमारे शरीर में बहुत तरह के और बहुत जटिल रोग उत्पन्न हो सकता है | विटामिन को उसके हम घुलनशीलता के अधर पर अलग करते है |

कोई विटामिन जल में घुल बहुत जल्दी घुल जाता है और कुछ विटामिन वासा में | वैसा विटामिन जो जल में घुलनशील है खून में मिल जाता है और जिस विटामिन का उपयोग हमारे शरीर नहीं कर पता है वो पेशाब के जरिए बाहर निकल जाता है |

यह भी पढ़े :- कटने के बाद अगर खून नहीं रुक रहा है तो आपके शरीर में इसकी कमी हो सकती हैजाने )

विटामिन B1 के फायदे – Benefits of vitamin B1 in Hindi

विटामिन B1 का उपयोग हम आयु बढ़ाने में भी करते है |विटामिन B one बेरी – बेरी रोग उत्पन्न करता है |एक व्यस्क आदमी को दिन भर में लगभग 900 यूनिट की आवस्यकता पड़ती है | नवजात बच्चे को दूध पीते हुए उल्टीऔर पेट दर्द भी विटामिन B one की कमी से होता है | रोगी का भूख में मर जाना एवं वजन तेजी से गिरना भी विटामिन B1 की कमी से होता है |विटामिन B1 की पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहने के कारण पाचन तंत्र स्वस्थ्य और शक्तिशाली रहता है |

विटामिन B1 के स्रोत – Sources of vitamin B1 in hindi

विटामिन B1 को आप अपने दैनिक आहार में भी पूरा कर सकते है | विटामिन B1 की भरपूर मात्रा गेहूं के आटा में मौजूद रहता है |विटामिन B1 की पूर्ति हम अपने दैनिक आहार में सुधार करके प्राप्त कर सकते है |जिस आहार में विटामिन B1 प्रचुर मात्रा में रहती है उसका विस्तार नीचे बताया जा रहा है |

विटामिन B1 के मुख्य स्रोत :- (one.) फूलगोभी (two.) दाल (three.) साबुत आनाज (four.)मटर (five.) आलू (six.) संतरा (seven.) सोयाबीन (eight.) अंडे इत्यादि | इस तरह के आहार के द्वारा आप विटामिन B1 प्राप्त कर सकते है |

भूरा चावल में सफ़ेद चावल के मुकाबले 10गुना विटामिन B1 होता है | विटामिन B1 को आप संचित नहीं रख सकते है इसके लिए आपको रोज आहार में नियमित तौर पर विटामिन B1 लेनी चाहिए |

गौर करने की बात यह है की यदि आप बहुत ज्यादा देर तक आप अपने दैनिक खाद्य पदार्थ को गर्म करते है तो या बहुत ज्यादा देर तक इसे पानी में उबलते है तो इसमें मौजूद विटामिन B1 नष्ट हो जाता है | क्यूंकि विटामिन B1 पानी में घुलनशील होने के कारण यह खाना बनाते समय पानी में मिल जाता है और नष्ट हो जाता है |

विटामिन B1 के साइड इफ़ेक्ट thiamin ‘s side effects

अगर हम मौखिक रूप से उचित मात्रा में विटामिन B1 की सेवन करते है तो ये सुरक्षित है लेकिन कुछ ज्यादा या कुछ मामलो में ये एलर्जी और त्वचा में जलन जैसी दिक्कत आ सकती है | हमे विटामिन B1 का नसों के जरिये ग्लूकोज के माध्यम से चढ़ाया जाता है |

तभी ये सुरक्षित होते है लेकिन ये देख रेख डॉक्टर के अधीन ही करना पड़ता है नहीं तो बहुत साइड इफ़ेक्ट होने का खतरा बना रहता है | जो लोग अधिक शराब पीता और जिसे यकृत में समस्या है वैसे लोगो के शरीर में विटामिन B1 की कमी आ जाते से कठिनाई उत्पन्न होती है |

जो महिला गर्भवती होती है और जो महिला नवजात शिशु को स्तनपान कराती है विटामिन B1 वैसे महिला के लिए सुरक्षित होता है | ऐसे महिलाओ को डॉक्टर के द्वारा बताया गया मात्रा में ही विटामिन B1 का सेवन करना चाहिए | इसीलिए आप जब भी विटामिन B1 का सेवन दावा का रूप में करे तो डॉक्टर से अवश्य सलाह ले लें |

विटामिन B1 की कमी से होने वाले लक्षण :शरीर में विटामिन B1 की कमी से बहुत लक्षण देखने को मिल जाता है | विटामिन B1 की कमी से हमे त्वचा पर लाल लाल छाले पड़ जाते है , शरीर में एलर्जी स्टार्ट हो जाती है , नींद नहीं आना और घबराहट जैसी लक्षण देखने को मिल जाता है | इसके अलावा भूख नहीं लगना, आंतो में सुजन , मस्तिष्क के बाहर की तंत्रिका तंत्र में सुजन भी हो सकती है |

विटामिन B1 की दावा कौन कौन से रोगी को दिया जा सकता है जिनसे उन्हें राहत मिलती है

जिनको आंतो में सुजन रहती है , बार बार दस्त आती है , भूख कम लगती है ऐसे लोगो को डॉक्टर की देख रेख में विटामिन B1 दिया जाता है | वैसे लोग जो कोमा की स्तिथि में है उन्हें भी विटामिन B1 का डोज इंजेक्शन के द्वारा दिया जाता है ताकि वो कोमा से बाहर निकल सके |

ऐसे बहुत से खिलाडी भी है जो खेल में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए विटामिन B1 का सेवन करता है | मोतियाबिंद में , डायबिटीज में , तनाव में और ह्रदय रोग में विटामिन B1 का डोज दावा के रूप में दिया जाता है |

निष्कर्ष ( conclusion ) :

विटामिन B1 : इस आर्टिकल में अपने पढ़ा की विटामिन B1 के फायदे,स्रोत और कमी के लक्षण के बारे में जाना | मैं आशा करता हु की आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आई होगी और हमे बहुत ही ज्यादा उम्मीद है की अगर मेरी ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी तो इसे like करे और अपने दोस्तों , अपने परिवार और अपने सगी सम्बन्धी को जरुर से जरुर शेयर करे ताकि उन्हें भी इस तरह की जानकारी मिल सके | इस तरह की और जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट www.24hourhindi.in को विजिट कर सकते है |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यबाद !!!

Leave a Comment