Covid-19 in Hindi : कोरोना क्या है और इसके लक्षण और बचाव

Covid-19 :- कोरोना वायरस , जिसकी शुरुआत साल 2019 में चीन देश के वुहान प्रान्त के सीफ़ूड और पोल्ट्री बाजार मे हुई है | यह बीमारी दुनियाभर के लिए एक गंभीर समस्या बन गयी है | दुनियाभर के कोई भी देश इस कोरोना वायरस की महामारी से बच नहीं पाया है |

Contents

What is Covid-19 | कोरोना वायरस क्या हैं ?

यह वायरस आजतक 70 देशो में अपना पैर पसार चूका है जिसमे 34 लाख 32 हज़ार के लगभग लोग इस महामारी से अपनी जान गवां चुके है | क्या है यह वायरस और इसकी शुरुवात कैसे  हुई, कैसे बन गयी यह एक ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी, खुद और अपने परिवार वालो को कैसे बचा सकते है इस वायरस से, क्या इस वायरस ( What is Covid-19 ) का कोई इलाज है? यह सब प्रश्नो का जवाब पाने के लिए आइये इस वायरस कि पूरी जानकारी जानने के लिए आगे पढ़ें |

कोरोना वायरस ( Covid-19 ) के लक्षण मामूली जुखाम और बुखार से लेकर ज्यादा गंभीर रोगों की बजह बन गयी है | इस महामारी जैसे वायरस से इन्सान और जानवर दोनों भुगत रहे है | इस वायरस को अभी “SARS-CoV-2” का नाम रखा गया है और इसकि वजह से आने वाली बीमारी को “Corona Disease 2019” जिसका सक्षिप्त नाम “COVID-19” है |

इस वायरस ( Covid-19) के बारे में सबसे पहले चीन के वुहान प्रांत में पता चला उसके बाद करीब 70 देशो में यह महामारी फ़ैल गयी | 23 जनवरी को चीन अधिकारियो में बाकि देश और दुनिया से सभी तरह के ट्रांसपोर्ट मार्ग को बंद कर दिया था | 20 जनवरी के बाद यह महामारी जापान, साउथ कोरिया, थाईलैंड, ताइवान, यूनाइटेड स्टेट्स कि देशों में प्रवेश कर गया था |

30 जनवरी 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने इस वायरस को सामाजिक स्वास्थ्य इमरजेंसी घोषित कर दिया जो सभी देशो के लिए चिंता का विषय बन गया |

यह भी पढ़े : ब्लैक फंगस क्या हैं ?

कोरोना वायरस के लक्षण

कोरोना वायरस ( What is Covid-19) से संक्रमित लोगो में यह लक्षण अनावरण होने के 2-5 दिन के बाद दिखाई दे देते है | ऐसे बहुत से लोग है जो संक्रमित होने के बाबजूद इसमें कोई लक्षण दिखाई नहीं देते है | कोई लक्षण नहीं दिखने पर भी ये संक्रमित हो जाते है | 80 % लोग बिना किसी ईलाज के बिना भी ठीक होते दिख रहे है | कोरोना वायरस से पीड़ित लोगो के लक्षण कुछ इस तरह के होते है

  • बुखार
  • थकान
  • सुखी खांसी
  • शरीर में दर्द
  • गले की खरास
  • साँस लेने में कठिनाई
  • खाने का स्वाद नहीं आना
  • सूंघने के शक्ति ख़त्म हो जाना

कैसे फैलता है कोरोना वायरस ?

अगर कोई व्यक्ति पहले से इस बीमारी से ग्रसित है तो उसके संपर्क में आने पर यह कोरोना वायरस फैलता है | जब इस बीमारी से ग्रसित मरीज खांसता है या छिकता है तो उसमे से निकलने वाली बूंदों के गिरने के स्थान या वस्तु के संपर्क में आने के बाद जब आंख, मुहं , नाक को अगर टच करते है तो यह वायरस शरीर में प्रवेश कर जाता है | इन बूंदों के साँस लेने के बाद या संपर्क में आने पर यह बीमारी / वायरस के शिकार बन जाता है |

क्या मास्क आपको वायरस से बचा सकता है ?

कोरोना वायरस दुनिया की सबसे तेज़ी से बढ़ने वाला वायरस बन चूका है | इस वायरस से बचने के लिए दुनिया भर के 100 % लोग मास्क का प्रयोग करने में लग गए है | सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल एंड प्रिवेंशन का यह मानना है कि मास्क्स पेहेन्ने से इन्फेक्शन का रिस्क कम करता है लेकिन इस तरीके से पूरी तरीके का सुरक्षा नही मिलता है | अगर आप इस वायरस से बचना चाहते है तो आप वायरस से पीड़ित लोगो से दूर रहे |

सबसे ज्यादा खतरा किन लोगो को हो सकता है ?

वैसे लोग जो बुजुर्ग हो चुके है , हाई ब्लड प्रेशर , दिल की समस्या और मधुमेह से ग्रसित लोग सबसे ज्यादा खतरा बना रहता है और खतरनाक रूप ले लेते है | इन सब के अलावा वैसे इन्सान जो पहले से किसी बीमारी से ग्रसित है या जिसके शरीर में इम्युनिटी पॉवर बहुत कमजोर है वैसे इन्सान इस बीमारी से ग्रसित हो सकते है |

किन चीजो का पालन करके इस वायरस से बचा जा सकता है ?

WHO और  CDC के अनुसार निम्नलिखित चीज़ो का  पालन करके इन्फेक्शन कि रिस्क कम हो सकती है

  • अपने हाथो को नियमित तौर पर साफ करते रहे |
  • अपने हाथ साबुन , अल्कोहल से हमेशा धोते रहना चाहिए |
  • खांसते या छिकते समय हमेशा अपने नाक एवं मुहं को ढक ले |
  • कोविद-19 से संक्रमित व्यक्ति से दूर रहे |
  • यदि किसी में वायरस के लक्षण दिखाई दे तो उसके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले सामान जैसे – बर्तन , ग्लास, बेड आदि से दूर रहे |

डॉक्टर से संपर्क कब करना चाहिए |

COVID-19 के लक्षण होने पर बहार निकलने न निकले यहाँ तक की क्लिनिक या अस्पताल भी ना जाएं। यह वायरस को फैलने से बचाने में मदद करता है। यदि आपके परिवार के किसी सदस्य में संक्रमण के लक्षण दिखने पर डॉक्टर से संपर्क करे। 

यदि आप या आपके प्रियजन में के निम्नलिखित अंतर्निहित स्थिति है, तो COVID-19 के लक्षणों के लिए अतिरिक्त सतर्क रहे, जैसे

  • मधुमेह
  • दिल की बीमारी
  • अस्थमा
  • कम प्रतिरक्षा प्रणाली
  • साँस सम्बंधित बीमारी

वायरस से संक्रमित होने पर लक्षण

ऐसे मामलों में खास सावधानी बरतना ज़रूरी है।

  • साँस लेने में तकलीफ
  • होठ या चेहरे का रंग नीला पड़ना
  • छाती में दर्द या दवाव
  • लगातार खांसी होना
  • नियमित बुखार रहना
  • कमजोरी महसूस होना
  • सूंघने की शक्ति खत्म हो जाना
  • खाने का स्वाद खत्म हो जाना |

Frequently Asked Questions | FAQs Covid-19

कोरोनावायरस रोग के लक्षण और लक्षण क्या हैं?

लक्षणों और लक्षणों में श्वसन संबंधी लक्षण शामिल हैं और इसमें बुखार, खांसी और सांस की तकलीफ शामिल हैं। अधिक गंभीर मामलों में, संक्रमण निमोनिया, गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम और कभी-कभी मृत्यु का कारण बन सकता है।
COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए मानक सिफारिशों में अल्कोहल-आधारित हैंड रब या साबुन और पानी का उपयोग करके हाथों की बार-बार सफाई शामिल है; खांसते और छींकते समय नाक और मुंह को मुड़ी हुई कोहनी या डिस्पोजेबल टिश्यू से ढकना; और बुखार और खांसी वाले किसी भी व्यक्ति के निकट संपर्क से बचना।

एक COVID-19 रोगी को कितने समय के लिए होम आइसोलेशन में रहना चाहिए?

होम आइसोलेशन के तहत रोगी को छुट्टी दे दी जाएगी और लक्षणों की शुरुआत से कम से कम 10 दिन बीत जाने के बाद (या स्पर्शोन्मुख मामलों के लिए नमूना लेने की तारीख से) और 3 दिनों तक बुखार नहीं होने के बाद अलगाव समाप्त हो जाएगा। होम आइसोलेशन की अवधि समाप्त होने के बाद परीक्षण की कोई आवश्यकता नहीं है

COVID-19 संक्रमण के बाद प्रतिरक्षा कितने समय तक चल सकती है?

प्रारंभ में, वैज्ञानिकों ने देखा कि COVID-19 से ठीक होने के तुरंत बाद लोगों के एंटीबॉडी के स्तर में तेजी से कमी आई है। हालाँकि, हाल ही में, हमने लंबे समय तक चलने वाली प्रतिरक्षा के सकारात्मक संकेत देखे हैं, अस्थि मज्जा में एंटीबॉडी-उत्पादक कोशिकाओं के साथ COVID-19 के संक्रमण के बाद सात से आठ महीने की पहचान की गई है।

अगर मुझे COVID-19 के लक्षण हैं तो मुझे क्या करना चाहिए?

जब तक आप ठीक नहीं हो जाते, खांसी, सिरदर्द, हल्का बुखार जैसे मामूली लक्षण होने पर भी घर पर रहें और आत्म-अलगाव करें। सलाह के लिए अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता या हॉटलाइन पर कॉल करें। क्या कोई आपके लिए आपूर्ति लेकर आया है। अगर आपको अपना घर छोड़ना है या आपके पास कोई है, तो दूसरों को संक्रमित करने से बचने के लिए मेडिकल मास्क पहनें।
यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई है, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। यदि आप कर सकते हैं तो पहले टेलीफोन द्वारा कॉल करें और अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।

COVID-19 किन परिस्थितियों में सबसे अधिक समय तक जीवित रहता है?

सूरज की रोशनी में यूवी प्रकाश के संपर्क में आने पर कोरोनावायरस बहुत जल्दी मर जाते हैं। अन्य आच्छादित विषाणुओं की तरह, SARS-CoV-2 सबसे लंबे समय तक जीवित रहता है जब तापमान कमरे के तापमान या उससे कम होता है, और जब सापेक्षिक आर्द्रता कम होती है (<50%)।

COVID-19 की ऊष्मायन अवधि क्या है?

छींक, या बातचीत। ये बूंदें सतहों पर भी उतर सकती हैं, जहां सतह के प्रकार के आधार पर वायरस को समय की एक चर अवधि के लिए व्यवहार्य रहने के लिए देखा गया है। संक्रमण तब भी हो सकता है जब कोई व्यक्ति किसी संक्रमित सतह को छूता है और फिर अपनी आंख, नाक या मुंह को छूता है। (फोमाइट ट्रांसमिशन के रूप में जाना जाता है)

COVID-19 के लिए संगरोध अवधि कितनी लंबी है?

संक्रामक रोग को अपने आसपास के स्वस्थ व्यक्तियों से खुद को अलग करना पड़ता है। यह आम जनता के बीच संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए किया जाता है। सेल्फ-आइसोलेशन बनाम क्वारंटाइन जबकि आइसोलेशन क्वारंटाइन के समान उद्देश्य को प्राप्त करता है, यह केवल उन लोगों के लिए है जो संक्रमित हैं या COVID-19 के पुष्ट मामले हैं।

क्या मैं कोविड वैक्सीन प्राप्त करने के बाद कसरत कर सकता हूँ?

हालांकि, COVID-19 वैक्सीन के बाद व्यायाम करने का कोई वास्तविक जोखिम नहीं है। व्यायाम से थकान जैसे दुष्प्रभाव बढ़ सकते हैं। हालांकि, वैक्सीन प्राप्त करने से पहले व्यायाम करने की तुलना में टीके के बाद व्यायाम करने से कोई बड़ा जोखिम नहीं है।

आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली COVID-19 पर कैसे प्रतिक्रिया करती है?

शिथिलता और थक्का बनना (जैसा कि रक्त के थक्कों के कारण उच्च डी-डिमर स्तरों द्वारा सुझाया गया है) को मृत्यु दर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए माना जाता है, थक्कों की घटनाओं से फुफ्फुसीय अन्त: शल्यता, और मस्तिष्क के भीतर इस्केमिक घटनाओं को मृत्यु की ओर ले जाने वाली जटिलताओं के रूप में नोट किया गया है। SARS-CoV-2 से संक्रमित लोगों में।

COVID-19 से कौन से अंग सबसे अधिक प्रभावित होते हैं?

फेफड़े COVID-19 से सबसे अधिक प्रभावित अंग हैं क्योंकि वायरस एंजाइम एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम 2 (ACE2) के लिए रिसेप्टर के माध्यम से मेजबान कोशिकाओं तक पहुंचता है, जो फेफड़ों के टाइप II वायुकोशीय कोशिकाओं की सतह पर सबसे प्रचुर मात्रा में होता है।

क्या कोरोनावायरस सतहों पर जीवित रह सकता है?

यह निश्चित नहीं है कि COVID-19 का कारण बनने वाला वायरस सतहों पर कितने समय तक जीवित रहता है, लेकिन ऐसा लगता है कि अन्य कोरोनवीरस की तरह व्यवहार करने की संभावना है। सतहों पर मानव कोरोनवीरस के अस्तित्व की हालिया समीक्षा में 2 घंटे से लेकर 9 दिनों (11) तक की बड़ी परिवर्तनशीलता पाई गई।

क्या बिना लक्षण वाले लोग COVID-19 के वाहक हो सकते हैं?

या दो मध्यम लक्षण, आपको हल्के से मध्यम लक्षणों वाले एक के रूप में वर्गीकृत किया जा सकता है। COVID-19 वाले लोगों को मोटे तौर पर निम्नानुसार वर्गीकृत किया जाता है: मूक वाहक हल्के से मध्यम लक्षणों वाले रोगी मध्यम से गंभीर लक्षणों वाले रोगी बहु-अंग रोग वाले गंभीर रूप से बीमार रोगी मूक वाहक कौन है?

कोविड वैक्सीन मिलने के कितने समय बाद आपकी प्रतिक्रिया हो सकती है?

COVID-19 टीकाकरण सहित किसी भी टीकाकरण के बाद गंभीर दुष्प्रभाव जो दीर्घकालिक स्वास्थ्य समस्या का कारण बन सकते हैं, उनकी अत्यधिक संभावना नहीं है। वैक्सीन की निगरानी ने ऐतिहासिक रूप से दिखाया है कि साइड इफेक्ट आमतौर पर वैक्सीन की खुराक प्राप्त करने के छह सप्ताह के भीतर होते हैं।

इस लेख What is Covid-19 ( Corona ) in Hindi : कोरोना क्या है और इसके लक्षण और बचाव के माध्इयम से समझ ही गए होंगे की यह वायरस क्या है , यह कैसे फैलता है और इसकी क्या क्या रोकथाम है | वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सुरक्षा निर्देशों का पालन करते हुए अच्छी स्वच्छता का अभ्यास करना, और अपने दोस्तों और परिवार को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करना इसके प्रसार को रोकने में एक महत्वपूर्ण रास्ता तय करेगा।

Leave a Comment