Benefits of Turmeric milk in Hindi : हल्दी दूध के फायदे , उपयोग और नुकसान

 44 total views,  2 views today

Benefits of Turmeric milk :- हल्दी और दूध का सेवन न केवल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है बल्कि इसके नियमित सेवन करने से बढती उम्र में होने वाली कई रोगों से बचाए रखने में मदद करती है | हल्दी और दूध का सेवन करने के बारे में आप अपने घरो में जरुर सुना होगा | घर के बड़े लोग अक्सर चोट लग जाने या शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द रहने पर इसे पीने का सलाह देते है |

बुजुर्गो को बढती उम्र में हल्दी दूध का नियमित सेवन करना चाहिए | जिससे उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाये रखने में सक्षम होता है | और साथ ही साथ कई रोगों से लड़ने में भी मदद करता है | आइये Benefits of Turmeric milk in Hindi : हल्दी दूध के फायदे , उपयोग और नुकसान के बारे में विस्तार से जानते है |

यह भी पढ़े :- ग्रीन टी पीने के फायदे

Content :

  1. हल्दी दूध पीने के फायदे : Benefits of drinking Turmeric milk in Hindi
  2. हल्दी दूध पीने के अन्य फायदे – Other Benefits of drinking Turmeric milk in Hindi
  3. हल्दी दूध के नुकसान – Side effects of Turmeric milk in Hindi
  4. हल्दी दूध बनाने का तरीका – How to make of Turmeric milk in Hindi

हल्दी दूध पीने के फायदे : Benefits of drinking Turmeric milk in Hindi

  • श्वसन प्रणाली से सम्बंधित बीमारियों में

हल्दी के दूध में उपस्थित जीवाणुरोधी और एंटीवायरल गुण किसी भी संक्रमित बीमारी को खत्म करने की क्षमता होती है | हल्दी दूध वायरस संक्रमण से लड़ने में महत्ब्पूर्ण भूमिका निभाता है | हल्दी और दूध के मिश्रण शरीर के ताप को बढाकर फेफड़े में कंजैशन और साइनस जैसी बीमारियों से बचाता है | यह श्वसन प्रणाली से सम्बंधित बीमारियों में में भी बहुत फायदेमंद होता है | हल्दी दूध का नियमित इस्तेमाल से अस्थमा , गले में दर्द , अतिरिक्त बलगम को दूर करने में सक्षम साबित होता है |

  • सर्दी खाँसी से सम्बंधित बीमारियाँ में

हल्दी एंटीसेप्टिक और सुजन को कम करने का गुण पाया जाता है जो संक्रमण के साथ साथ सर्दी और खाँसी के लक्षणों से लड़ने में मदद करता है | सोने से पहले एक ग्लास हल्दी दूध के सेवन करने से शरीर पर पॉजिटिव प्रतिक्रिया देता है | गले के सुजन के कम के साथ साथ सुखी खांसी और अस्थमा में विशेष प्रभावी होता है |

  • त्वचा के लिए फायदेमंद

हल्दी का दूध का इस्तेमाल त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है | इसके इस्तेमाल से त्वचा स्वस्थ्य और जवां दिखती है | त्वचा की अशुद्धियाँ को दूर करने के लिए हल्दी के दूध का उपयोग किया जाता है |त्वचा को कोमल बनाने के साथ साथ मुहांसे को भी दूर करता है | हल्दी दूध के नियमित सेवन करने से एग्जिमा जैसे रोगों से छुटकारा मिलता है |

  • कैंसर को रोकने में फायदेमंद

हल्दी मेर मौजूद कर्कुमिन कैंसर कोशिकाओ को खत्म करने और शरीर में बढ़ने से रोकता है | यह स्तन, कोलन , त्वचा , फेफड़े आदि में होने वाले कैंसर से बचाव करता है | क्यूंकि इसमें सुजन को कम करने की क्षमता पाई जाती है | हल्दी दूध का नियमित इस्तेमाल से आगामी होने वाले कैंसरो से बचा जा सकता है |

  • शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद

इसमें उपस्थित एंटीवायरल गुण शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है और साथ ही साथ वायरस को बढ़ने से रोकता है | शोध में पता चला है की हल्दी दूध अल्जेमर रोग और कैंसर के होने के खतरे को कम करता है | हल्दी दूध का उपयोग शरीर में होने वाले कई प्रकार के रोगों के लिए शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है |

हल्दी दूध पीने के अन्य फायदे – Other Benefits of drinking Turmeric milk in Hindi

  • हल्दी दूध एक बेहतरीन रक्त शोधक माना जाता है |
  • हल्दी दूध सिर दर्द को दूर करने में सहायक होता है |
  • एग्जिमा के ईलाज में फायदेमंद होता है |
  • हल्दी दूध प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में सहायक होता है |
  • हल्दी वाला दूध से मधुमेह नियंत्रित रहता है |
  • सुजन कम करने और घावों को पूरी तरह से ठीक करने में हल्दी दूध का इस्तेमाल किया जाता है |

हल्दी दूध के नुकसान – Side effects of Turmeric milk in Hindi

  1. हल्दी दूध के इस्तेमाल करने से पहले यह देख ले की इससे आपको कहीं एलर्जी तो नहीं है |
  2. ज्यादा इस्तेमाल करने से मासिक धर्मं में गड़बड़ी , अपच, दस्त , आन्तरिक रक्स्त्रव इत्यादि जैसे समस्या उत्पन्न हो सकती है |
  3. गर्भवती महिलाओ को ज्यादा हल्दी दूध का सेवन से गर्भाशय में संकुचन आने का खतरा हो जाता है |
  4. गर्मियों में हल्दी दूध का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए क्यूंकि इसकी तासीर गर्म होती है जिससे आप काफी असहज महसूस हो सकती है |

हल्दी दूध बनाने का तरीका – How to make of Turmeric milk in Hindi

सामग्री

  • हल्दी का टुकड़ा / हल्दी का पाउडर
  • एक ग्लास दूध
  • शहद

बनाने की बिधि

  • कड़ाही में 1 इंच हल्दी का टुकड़ा डाले |
  • अब इसमें दूध मिलाके 10-15 मिनट तक उबाले |
  • इसके बाद आप इसमें आपकी ईक्षा अनुसार शहद डाले |
  • इसे छान कर एक ग्लास में निकल ले |
  • अब इस पेय पदार्थ को गर्मा गर्म ही सेवन करना चाहिए |

2 thoughts on “Benefits of Turmeric milk in Hindi : हल्दी दूध के फायदे , उपयोग और नुकसान”

Leave a Reply

%d bloggers like this: