Benefits of Turmeric milk in Hindi : हल्दी दूध पीने के फायदे

Benefits of Turmeric milk :- हल्दी और दूध का सेवन न केवल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है बल्कि इसके नियमित सेवन करने से बढती उम्र में होने वाली कई रोगों से बचाए रखने में मदद करती है | हल्दी और दूध का सेवन ( Benefits of Turmeric milk )करने के बारे में आप अपने घरो में जरुर सुना होगा | घर के बड़े लोग अक्सर चोट लग जाने या शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द रहने पर इसे पीने का सलाह देते है |

बुजुर्गो को बढती उम्र में हल्दी दूध का नियमित सेवन ( Benefits of Turmeric milk) करना चाहिए | जिससे उनके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाये रखने में सक्षम होता है | और साथ ही साथ कई रोगों से लड़ने में भी मदद करता है | आइये Benefits of Turmeric milk in Hindi : हल्दी दूध के फायदे , उपयोग और नुकसान के बारे में विस्तार से जानते है |

यह भी पढ़े :- ग्रीन टी पीने के फायदे

Contents

हल्दी दूध पीने के फायदे : Benefits of Turmeric milk in Hindi

  • श्वसन प्रणाली से सम्बंधित बीमारियों में ( Benefits of Turmeric milk)

हल्दी के दूध में उपस्थित जीवाणुरोधी और एंटीवायरल गुण किसी भी संक्रमित बीमारी को खत्म करने की क्षमता होती है | हल्दी दूध वायरस संक्रमण से लड़ने में महत्ब्पूर्ण भूमिका निभाता है | हल्दी और दूध के मिश्रण शरीर के ताप को बढाकर फेफड़े में कंजैशन और साइनस जैसी बीमारियों से बचाता है | यह श्वसन प्रणाली से सम्बंधित बीमारियों में में भी बहुत फायदेमंद ( Benefits of Turmeric milk) होता है | हल्दी दूध का नियमित इस्तेमाल ( Benefits of Turmeric milk ) से अस्थमा , गले में दर्द , अतिरिक्त बलगम को दूर करने में सक्षम साबित होता है |

  • सर्दी खाँसी से सम्बंधित बीमारियाँ में ( Benefits of Turmeric milk)

हल्दी एंटीसेप्टिक और सुजन को कम करने का गुण पाया जाता है जो संक्रमण के साथ साथ सर्दी और खाँसी के लक्षणों से लड़ने में मदद करता है | सोने से पहले एक ग्लास हल्दी दूध के सेवन करने से शरीर पर पॉजिटिव प्रतिक्रिया देता है | गले के सुजन के कम के साथ साथ सुखी खांसी और अस्थमा में विशेष प्रभावी होता है |

  • त्वचा के लिए फायदेमंद ( Benefits of Turmeric milk)

हल्दी का दूध का इस्तेमाल त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है | इसके इस्तेमाल से त्वचा स्वस्थ्य और जवां दिखती है | त्वचा की अशुद्धियाँ को दूर करने के लिए हल्दी के दूध का उपयोग किया जाता है |त्वचा को कोमल बनाने के साथ साथ मुहांसे को भी दूर करता है | हल्दी दूध के नियमित सेवन करने से एग्जिमा जैसे रोगों से छुटकारा मिलता है |

  • कैंसर को रोकने में फायदेमंद ( Benefits of Turmeric milk)

हल्दी मेर मौजूद कर्कुमिन कैंसर कोशिकाओ को खत्म करने और शरीर में बढ़ने से रोकता है | यह स्तन, कोलन , त्वचा , फेफड़े आदि में होने वाले कैंसर से बचाव करता है | क्यूंकि इसमें सुजन को कम करने की क्षमता पाई जाती है | हल्दी दूध का नियमित इस्तेमाल से आगामी होने वाले कैंसरो से बचा जा सकता है |

  • शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद ( Benefits of Turmeric milk)

इसमें उपस्थित एंटीवायरल गुण शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है और साथ ही साथ वायरस को बढ़ने से रोकता है | शोध में पता चला है की हल्दी दूध अल्जेमर रोग और कैंसर के होने के खतरे को कम करता है | हल्दी दूध का उपयोग शरीर में होने वाले कई प्रकार के रोगों के लिए शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है |

हल्दी दूध पीने के अन्य फायदे – Other Benefits of drinking Turmeric milk in Hindi

Golden milk with fresh ginger and turmeric
  • हल्दी दूध एक बेहतरीन रक्त शोधक माना जाता है | ( Benefits of Turmeric milk)
  • हल्दी दूध सिर दर्द को दूर करने में सहायक होता है |( Benefits of Turmeric milk)
  • एग्जिमा के ईलाज में फायदेमंद होता है | ( Benefits of Turmeric milk)
  • हल्दी दूध प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में सहायक होता है |
  • हल्दी वाला दूध से मधुमेह नियंत्रित रहता है | ( Benefits of Turmeric milk)
  • सुजन कम करने और घावों को पूरी तरह से ठीक करने में हल्दी दूध का इस्तेमाल किया जाता है |

हल्दी दूध के नुकसान – Side effects of Turmeric milk in Hindi

  1. हल्दी दूध के इस्तेमाल करने से पहले यह देख ले की इससे आपको कहीं एलर्जी तो नहीं है |
  2. ज्यादा इस्तेमाल करने से मासिक धर्मं में गड़बड़ी , अपच, दस्त , आन्तरिक रक्स्त्रव इत्यादि जैसे समस्या उत्पन्न हो सकती है |
  3. गर्भवती महिलाओ को ज्यादा हल्दी दूध का सेवन से गर्भाशय में संकुचन आने का खतरा हो जाता है |
  4. गर्मियों में हल्दी दूध का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए क्यूंकि इसकी तासीर गर्म होती है जिससे आप काफी असहज महसूस हो सकती है |

हल्दी दूध बनाने का तरीका – How to make of Turmeric milk in Hindi

सामग्री

  • हल्दी का टुकड़ा / हल्दी का पाउडर
  • एक ग्लास दूध
  • शहद

बनाने की बिधि

  • कड़ाही में 1 इंच हल्दी का टुकड़ा डाले |
  • अब इसमें दूध मिलाके 10-15 मिनट तक उबाले |
  • इसके बाद आप इसमें आपकी ईक्षा अनुसार शहद डाले |
  • इसे छान कर एक ग्लास में निकल ले |
  • अब इस पेय पदार्थ को गर्मा गर्म ही सेवन करना चाहिए |

Frequently Asked Questions | FAQs Benefits of Turmeric milk

अगर हम रोज हल्दी वाला दूध पीते हैं तो क्या होता है?

हल्दी वाला दूध पीने से बलगम का प्रवाह बढ़ जाता है और इसकी बनावट हल्की हो जाती है, जिससे साइनस ड्रेनेज को बढ़ावा मिलता है। यह साइनस से प्रेरित बार-बार होने वाले सिरदर्द को भी रोक सकता है, क्योंकि हल्दी के रक्त को पतला करने वाला प्रभाव शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है,

अगर हम रोज रात को हल्दी वाला दूध पीते हैं तो क्या होता है?

हल्दी दूध के लाभ के लिए छवि परिणाम अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
जो लोग नींद के दौरान बेचैन हो जाते हैं उनके लिए रात में एक कप हल्दी दूध विशेष रूप से फायदेमंद हो सकता है। यह आपको सुकून भरी नींद लेने में मदद कर सकता है। जिन लोगों की नींद कई बार बाथरूम के इस्तेमाल से टूटती है, उन्हें भी सोते समय एक कप हल्दी वाला दूध पीने से फायदा हो सकता है।

आपको एक दिन में कितना हल्दी वाला दूध पीना चाहिए?

खुराक: प्रतिदिन १/२ से १/२ चम्मच हल्दी का सेवन करें और आप लगभग चार से आठ सप्ताह के बाद लाभ महसूस करना शुरू कर सकते हैं। अधिकांश अध्ययनों में करक्यूमिन अर्क का उपयोग किया जाता है, जिसमें 95 प्रतिशत करक्यूमिनोइड्स होते हैं, न कि हल्दी का मसाला, जिसमें केवल 3 प्रतिशत करक्यूमिनोइड्स होते हैं।

क्या सोने से पहले हल्दी वाला दूध अच्छा होता है?

प्रारंभिक चूहों के अध्ययन में पाया गया है कि हल्दी ऑक्सीडेटिव क्षति और नींद की कमी से रक्षा कर सकती है। आराम करने, मूड में सुधार करने, अवसाद में मदद करने और संभावित रूप से अपनी चिंता के स्तर को कम करने के लिए इस सुपर मसाले को अपने सोने के अनुष्ठान में शामिल करें

हल्दी के नकारात्मक दुष्प्रभाव क्या हैं?

हल्दी और करक्यूमिन को आमतौर पर अच्छी तरह सहन किया जाता है। नैदानिक अध्ययनों में देखे गए सबसे आम दुष्प्रभाव गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल हैं और इसमें कब्ज, अपच, दस्त, बढ़ाव, गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स, मतली, उल्टी, पीला मल और पेट में दर्द शामिल हैं।

हल्दी वाले दूध के क्या दुष्प्रभाव हैं?

हल्दी आमतौर पर महत्वपूर्ण दुष्प्रभाव नहीं पैदा करती है; हालांकि, कुछ लोगों को पेट खराब, मतली, चक्कर आना या दस्त का अनुभव हो सकता है। एक रिपोर्ट में, एक व्यक्ति जिसने हल्दी की बहुत अधिक मात्रा में, प्रतिदिन दो बार 1500 मिलीग्राम से अधिक लिया, एक खतरनाक असामान्य हृदय ताल का अनुभव किया।

क्या खाली पेट हल्दी वाला दूध पी सकते हैं?

सुबह खाली पेट या रात को सोने से ठीक पहले एक गिलास हल्दी वाला दूध पीना आपके स्वास्थ्य के लिए चमत्कार कर सकता है क्योंकि यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है और विभिन्न संक्रमणों से लड़ता है। इससे रात के समय होने वाली खांसी से भी राहत मिलेगी और सर्दी-जुकाम भी दूर रहेगा।

क्या वजन घटाने के लिए हल्दी दूध अच्छा है?

आहार-प्रेरित वजन घटाने: हल्दी में आहार फाइबर होता है जो वजन बढ़ाने को रोकने में मदद करता है और वसा घटाने में सहायता करता है। इसका मतलब यह है कि जब आप हल्दी का सेवन खासकर दूध के साथ करते हैं तो इससे आपका वजन तेजी से कम होता है।

क्या हल्दी वाला दूध रंग सुधारता है?

पारंपरिक रूप से होने वाली दुल्हनों को उनके रंग को निखारने के लिए एक गिलास हल्दी वाला दूध दिया जाता था। … करक्यूमिन में जीवाणुरोधी और विरोधी भड़काऊ गुण होते हैं जो मुँहासे से लड़ने और रंग को स्पष्ट करने में मदद करते हैं।

क्या हल्दी वाला दूध गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है?

हल्दी में ऑक्सलेट होता है और इससे किडनी स्टोन का खतरा बढ़ सकता है। “हल्दी की पूरक खुराक के सेवन से मूत्र में ऑक्सालेट का स्तर काफी बढ़ सकता है, जिससे अतिसंवेदनशील व्यक्तियों में गुर्दे की पथरी बनने का खतरा बढ़ जाता है।”

हल्दी किसे नहीं लेनी चाहिए?

इसमें एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सीडेंट लाभ होते हैं। जिन लोगों को हल्दी नहीं लेनी चाहिए उनमें पित्ताशय की थैली की समस्या, रक्तस्राव विकार, मधुमेह, गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीईआरडी), बांझपन, आयरन की कमी, यकृत रोग, हार्मोन-संवेदनशील स्थिति और अतालता शामिल हैं।

क्या हल्दी शरीर को साफ करती है?

हल्दी अपने विषहरण गुणों के लिए जानी जाती है और यदि आप इसे हर दिन पीते हैं तो यह आपको शांत कर सकती है। एक साधारण दैनिक डिटॉक्स हल्दी रेसिपी को गुनगुने पानी में 1/3 बड़ा चम्मच हल्दी, शहद (स्वाद के लिए), और 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाकर तैयार किया जा सकता है। इसे रोज सुबह खाली पेट लें।

क्या हल्दी और दूध पीना त्वचा के लिए अच्छा है?

हल्दी दूध खून को साफ करने में मदद करता है, जिससे त्वचा बेदाग चमकती है। यह त्वचा को संक्रमण और एलर्जी से दूर रखने में मदद करता है। इतना ही नहीं, रोजाना हल्दी वाला दूध पीने से पाचन तंत्र मजबूत होता है और पाचन क्रिया को बढ़ावा देने में मदद मिलती है

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

Leave a Comment