Benefits of pomegranate in Hindi |अनार खाने के फायदे

Benefits of pomegranate :- अनार हर किसी को पसंद आता है | अनार बाहर से दिखने में जितना कठोर होता है अन्दर उतना ही स्वादिष्ट और लाजवाब मीठा मीठा फल होता है |डॉक्टर हमेशा रोगी को , चाहे कोई भी रोग हो , अनार खाने और उसका जूस पीने की सलाह देते है | कमजोरी दूर करने में और स्वास्थ्य को स्वस्थ्य रखने में अनार जूस बहुत फायदेमंद होता है |

शायद आपको भी पता होगा की अनार खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक और सेहत के लिए फायदेमंद होता है , लेकिन आपको पता की इसके और क्या क्या फायदे है ? नहीं न ! तो आइये जानते है Benefits of pomegranate ( अनार के फायदे क्या है? )

अनार खाने के फायदे – Benefits of pomegranate in Hindi

अनार को आयुर्वेद के भाषा में बहुत ही अच्छा और चमत्कारी फल कहा गया है | और साथ ही साथ ये भी बताया गया है की अनार का सेवन करने से कई सारी बीमारियों को दूर भगाया जा सकता है |

डॉक्टरों का मानना है की सिर्फ अनार ही नहीं उसका सारा बृक्ष भी चमत्कार कर सकता है क्यूंकि उसके बृक्ष में भी औषधीय गुण मौजूद होते है | आइये जानते है अनार क्या क्या में फायदेमंद है ?

एनीमिया और पीलिया में फायदेमंद

एनीमिया और पीलिया में अनार का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है | इसके लिए अनार के रस में चीनी मिलके उसका चाशनी बना ले और उसका सेवन दिनभर में 4-5 बार करे | ऐसा करने से एनीमिया और पीलिया से आराम मिलता है | जो लोग पीलिया और एनीमिया से ग्रसित है वो लोग अनार के पत्ते को छाया में सुखा ले और इसके चूर्ण को गाय के दूध के साथ छाछ बनाकर पि ले | ऐसा करने से एनीमिया और पीलिया से ग्रसित रोगी को आराम मिलता है |

दस्त रोकने में फायदेमंद

दस्त को रोकने में अनार बहुत फायदेमंद होता है | इसके लिए 4-5 ग्राम अनार के छिलके को सुखा कर उसका चूर्ण बना ले और सुबह शाम पानी के साथ खाए | इससे दस्त की समस्या से आराम मिलता है |

पेट के कीड़ो को रोकने में फायदेमंद

अगर आपके पेट में किसी बजह से कीड़े हो गए हो तो उसके लिए आप अनार का सेवन कर कीड़ो को ख़त्म कर सकते है | इसके लिए आप अनार के पत्तो को छाया में सुखाकर बहुत ही महीन से पीस ले | और इसे एक सूती कपडे से छान ले उसके बाद सुबह शाम छाछ के साथ या ताज़ा पानी के साथ सुखाये हुए पत्तो का सेवन करे | ऐसा करने आपके पेट के कीड़े ख़त्म हो जायेंगे |

रिकेट्स ( सुखा रोग ) में फायदेमंद

रिकेट्स विटामिन D की कमी के कारण होती है | भारत सहित पूरा विश्व इस रिकेट्स की बीमारी से ग्रसित है | इस रोग से ग्रसित रोगियों को अनार का जूस बहुत फायदेमंद होता है | इसके लिए 10-15 ग्राम अनार के रस को दूध में मिलाके पीने से इस रोग का उपचार हो सकता है |

दाग-धब्बे में फायदेमंद

आज कल की सबसे बड़ी समस्या चेहरे पर उत्पन्न दाग- धब्बा हो गया है | बहुत से लोग इसको लेकर परेशान रहते है और इसकी शिकायत महिलाओ में ज्यादा होती है | अगर आपके साथ भी ऐसा कुछ है तो आप भी अनार का प्रयोग कर सकते है | इसके लिए अनार के पत्तो के रस को सरसों के तेल में मिलाकर छान ले | उसके बाद कील-मुहांसे , काले धब्बे के जगह पर मालिश करे | ऐसा करने पर इन सब समस्या से छुटकारा मिलता है |

हिचकी में फायदेमंद

हिचकी के परेशानी से छुटकारा पाने के लिए अनार का इस्तेमाल कर सकते है |इसके लिए आपको अनार के रस में इलायची , वंशलोचन , सुखा पुदीना मिला ले और उसका चूर्ण बना ले | इसके बाद उसे आवश्यकता अनुसार थोडा थोडा चाटते रहे इससे आपकी हिचकी ठीक हो जाएगी |

घाव सुखाने में फायदेमंद

अगर आपके शरीर के किसी भी हिस्से पर घाव हो गया हो तो आप अनार की कली को सुखाकर उसका चूर्ण बना ले और घाव वाले स्थान पर लगाये इससे आपका घाव जल्दी ठीक हो जायेंगे |

इस के अलावा और भी कई ऐसे फायदे है जो अनार के इस्तेमाल के द्वारा ठीक हो सकते है | जैसे –

  • हाथ पैर की सुजन में
  • त्वचा रोग में
  • गंजेपन दूर करने में
  • स्तन को सुडौल बनाने में
  • दांत के दर्द में
  • कान एवं नाक दर्द में
  • सिर दर्द में
  • नाक से खून बहने में
  • आंख के रोग में
  • भूख बढ़ाने में
  • उल्टी रोकने में
  • खांसी और दमा में , आदि

अनार क्या होता है ? What is a pomegranate In Hindi

अनार को हम स्वाद के अनुसार तीन किस्मो में पाया जाता है |

  1. कंधार के तरफ अनार मीठे होते है |
  2. लोकल और देशी अनार खट्टे और मीठे होते है |
  3. काबुल अनार भी मीठे होते है | यह अनार में गुठली नहीं होती है और यह अत्यंत मीठा होने के कारण इसे बेदाना अनार कहते है |

अनार के नाम अन्य भाषाओ में – Pomegranate names in other languages

अनार का नाम अलग अलग जगहों पर उसका नाम अलग अलग होता है | इसका वनस्पति नाम प्यूनिका ग्रनेतम है और इसके कुल का नाम प्युनिकैसी है |

  1. Hindi – अनार , दाड़िम
  2. English – एप्पल ऑफ़ ग्रेनाडा , पोमेग्रेनेट
  3. Oriya – डालिम , दालिम्बो
  4. Tamil – माद्लाई , मद्लम
  5. Nepali – अनार
  6. Marathi – दालिम्बा
  7. Punjabi – दारुण , धारु , जामन
  8. Bengali – दाडिम गाछ
  9. Guajarati – दाडम , गुलनार
  10. Assamese – डालिम
  11. Sanskrit – दाड़िम , करक , रक्तपुष्पक , लोहितपुष्पक , दलन
  12. Urdu – गुल – अनार
  13. kenned – दालिम्बे , हुलिदालिम्बे

अनार फल के उपयोग भाग – Use portion of pomegranate fruit in Hindi

अनार के हम सभी प्रकार के भाग के करते है | और सभी भाग स्वाश्थ्य के लिए फायदेमंद होता है

  1. फूल
  2. फल
  3. बीज
  4. पत्तियां
  5. तना
  6. अनार के छिलके
  7. पेड़ की छाल

अनार के सेवन के साइड इफ़ेक्ट – Pomegranate ‘s side effects in Hindi

वैसे लोग जिनका शरीर हमेशा ठंडा रहता हो या शीत प्रकृति वाला हो वैसे लोग अनार का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए | क्यूंकि जिसका शरीर शीत प्रकृति का है अनार के सेवन करने से उनके शरीर में साइड इफ़ेक्ट होने का खतरा बना रहता है |

नोट : ऊपर के लेख Benefits of pomegranate– अनार खाने के फायदे के बारे में आप जान ही गए होंगे | अगर आपके पास अनार के कोई और भी जानकारी या Benefits of pomegranate के बारे में है तो आप कमेंट बॉक्स में अपना सुझाव दे सकते है ताकि मै अपने लेख को समय समय पर अपडेट करता रहूँ |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यवाद !!!

Leave a Comment