Benefits of Mint (Pudina ) in Hindi – पुदीना खाने के फायदे और गुण

 83 total views,  1 views today

Benefits of Mint :- पुदीना ( Pudina ) की स्वाद के लिए सबसे ज्यादा पहचाना जाना जाता है | पुदीना के पत्ते की चटनी न सिर्फ खाने को टेस्टी और जयका बनती है बल्कि यह स्वस्थ्यवर्द्धक भी है |सदियों से आयुर्वेद में पुदीना का इस्तेमाल होते आ रहा है | साधारणतः लोग पुदीने का उपयोग ( Benefits of Mint in Hindi ) टूथपेस्ट , माउथ फ्रेशनर , दांत -मंजन , चॉकलेट आदि में इस्तेमाल होता है |

यह भी पढ़े :- अगर आपके घर के आंगन में तुलसी का पौधा है तो आप इसका इस्तेमाल अपने स्वास्थ्य के लिए कैसे करे आइये जानते है |( पूरा पढ़े )

पुदीना खाने से हमारे शरीर ठंडा रहता है जो मेन्थऑल की उपस्थिति के कारण होता है |इसके अलावा इसमें विटामिन C, तांबा आदि भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है | चाय बनाकर या काढ़ा बनाकर इस्तेमाल से अपने स्वास्थ्य में सुधार ला सकते है |

Content :

  1. पुदीना खाने के फायदे – Benefits of Mint ( pudina ) in Hindi
  2. पुदीना का अन्य भाषाओ में नाम ( Name of pudina in different language )
  3. पुदीना के कुछ रोचक जानकारी – pudina ke rochak jankari in Hindi
  4. पुदीना से नुकसान – side effect of pudina in Hindi

पुदीना खाने के फायदे – Benefits of Mint ( pudina ) in hindi

बहुत ही कम लोगो को पता होगा की पुदीना किस काम आती है | पुदीना हमारे आसपास पाए जाने वाला ऐसा औषधीय है जो बहुत सारे बीमारी को ठीक करने का काम आता है | आइये जानते है विस्तार से –

कान के दर्द में

कान का दर्द या कान सम्बन्धी समस्या आदि के लिए पुदीना बहुत ही लाभदायक होता है | इसका इस्तेमाल करने से कान सम्बन्धी समस्या से जल्द आराम मिलता है |कभी कभी कान में पानी चले जाने पर या ज्यादा ठण्ड में कान दर्द करने लगता है , ऐसे में पुदीना के पत्तियों के रस को निकालकर 1-2 बूंद कान में डालने पर आराम मिलता है

बाल झरने को रोकने में

पुदीना अपने औषधीय गुण के कारण बालो का टूटना और बालो का रूखापन को कम करने में सहायक होता है | औषधीय गुण के कारण बालों मेरुसी या बेजान होकर टूटना को रोककर प्राकृतिक रूप से मजबूती प्रदान करता है |

मुहं के छाले से आराम

मुंह में छाले से आराम के लिए पुदीना के पत्तीको काढ़ा बनाकर गरारा करने पर छाला सम्बन्धी समस्या खत्म होती है |

दांत के दर्द में

हर किसी को दांत की समस्या आम बात हो गयी है | हर उम्र के लोगो को दांत सम्बन्धी समस्या बहुत ज्यादा होती है | इस समस्या को दूर करने के लिए पुदीना में औषधीय गुण के कारण बहुत कारगर साबित होता है | इसके लिए पुदीना के पत्तियों का चूर्ण बनाकर लगाने से समस्या से छुटकारा मिल सकता है |

अपच में फायदेमंद

पेट की गड़बड़ी या पेट की अपच होने आप पुदीना का सेवन कर इस समस्या से दूर हो सकते है | इसके लिए आप इसमें पुदीना के साथ साथ निम्बू, और अदरक मिलाकर चाँदी के बर्तन में पका ले और इसकी काढ़ा को सेवन करे | यह अपच जैसी स्थिति में बहुत फायदेमंद होती है |

उल्टी में राहत

पुदीना का सेवन आप उल्टी रोकने में भी कर सकते है | अक्सर लोग एसिडिटी होने पर या किसी दवाई के साइड इफ़ेक्ट होने पर पुदीना का काढ़ा इस्तेमाल करते है | पुदीना का काढ़ा उल्टी जैसी समस्या से ग्रसित होने पर आराम दिलाता है |

इन सब के अलावा और बहुत सारी जटिल समस्या है जिसे पुदीना के द्वारा आसानी से छुटकारा पा सकते है जैसे-

  • सिर दर्द में
  • पेट की गड़बड़ी में
  • दस्त रोकने में
  • मूत्र विकार में
  • घाव को सुखाने में
  • त्वचा रोग में
  • बुखार में
  • श्री में जलन होने पर
  • बिच्छू के डंक मरने पर
  • मुहांसों से छुटकारो में , आदि

पुदीना का अन्य भाषाओ में नाम ( Name of pudina in different language )

  • संस्कृत :- पुतिहा , पोदिनकः , रोचिनी
  • तेलेगु :- पुदीना
  • तमिल :- पुदीना
  • हिंदी :- पुदीना , पहाड़ी पुदीना
  • गुजरती :- फुदिनो
  • मराठी :- पुदीना
  • अंग्रेजी :- लैब मिंट , गार्डन मिंट , स्पीयर मिंट
  • पंजाबी :- पहाड़ी पोदीना

पुदीना के कुछ रोचक जानकारी – pudina ke rochak jankari in hindi

आज कल लोग पुदीना का इस्तेमाल दैनिक दिनचर्या में करते है | यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है | पुदीना की कुछ ऐसे रोचक तथ्य है जिसे जानना जरुरी है | आइये जानते है पुदीना में निहित लाभ की रोचक जानकारी के बारे में –

  • पुदीना में और सब पौधों से ज्यादा एंटीओक्सिडेंट पाया जाता है |
  • इसका वैज्ञानिक नाम “मेंथा” है |
  • पुदीने के लगभग 90 प्रजातीय पाई जाती है |
  • खाना पकाने के दौरान स्वाद बढ़ाने के लिए |
  • पुदीना के कई तरह के ड्रिंक्स और फ़ूड प्रोडक्ट्स आते है |
  • पुदीना का इस्तेमाल मिठाई , कैंडी, जूस आदि में किया जाता है |
  • इसकी मालिश से दिमाग पहले से ज्यादा active हो जाती है |
  • थकान कम करने में फायदेमंद है |
  • स्किन और पिम्पल से लड़ने में सहायक होते है |
  • स्किन के दाग धब्बे आदि को दूर करता है |

पुदीना से नुकसान – side effect of pudina in hindi

यह जरुरी नहीं है की पुदीना हर समय फायदेमंद ही है | इसका जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल से हमारे शरीर को नुकसान पंहुचा सकता है | यहाँ पर कुछ पुदीना का नुकसान बताया जा रहा है |

  • low सुगर वाले लोगो को पुदीना के इस्तेमाल से दूर रहना चाहिए | क्यूंकि इसके सेवन से सुगर के स्तर को कम किया जा सकता है |
  • low BP वाले लोगो को पुदीना इस्तेमाल करने से पूर्व डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए क्यूंकि इसके इस्तेमाल से BP के स्तर कम करके समस्या उत्पन्न हो सकती है |
  • गर्भावस्था के समय पुदीना का इस्तेमाल करना हानिकारक सिद्ध होता है |
  • जिस किसी को स्किन सेंसिटिव है उन्हें पुदीना के इस्तेमाल से दूर रहना चाहिए |

सलाह :- इस पोस्ट में दी गयी जानकारी के अनुसार डाइट में शामिल करना चाहते है तो आप इसका सेवन करने से पूर्व एक बार डॉक्टर से सलाह जरुर ले | डॉक्टर आपकी सेहत के अनुसार से सही मात्रा में पुदीना का इस्तेमाल करने की सलाह देते है |

आइये जानते है की एलोवेरा बालों और त्वचा के कैसे फायदेमंद है ? ( पूरा पढ़िए )

दोस्तों , अगर आपको मेरी ये लेख Benefits of Mint (Pudina ) in Hindi – पुदीना खाने के फायदे और गुण अच्छी लगी होगी तो आप इसे शेयर जरुर करे | अगर आपके पास पुदीना को लेकर कुछ सुझाव और सलाह है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स की मदद से सुझाव दे सकते है |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यवाद !!!

Leave a Reply