Benefits of eating basil in Hindi | तुलसी खाने के फायदे

Benefits of eating basil :-लोग अक्सर अपने घरों के आंगन में तुलसी का पौधा अवश्य लगते है और इसकी पत्तियों को कई तरीको से उपयोग में लाते है | तुलसी का पत्तियों का उपयोग आयुर्वेद के उपचार में बड़े स्तर पर किया जाता है |तुलसी का पौधा घर के आंगन में लगाने के पीछे कारण है की यह 24 घंटा ऑक्सिजन देता है और साथ ही साथ इसमें पाए जाने वाला आवश्यक तेल हमारे शरीर की सांस प्रणाली को सही ढंग से बनाये रखता है |

तुलसी के पौधे में एंटीओक्सिडेंट की मात्रा पाई जाती है जो तनाव को कम कर नसों को शांत करता है | मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी लक्षणों में तुलसी के पौधों का पत्तियां बहुत उपयोगी सिद्ध होता है |तुलसी के पौधों में लिनोलिक acid मौजूद होता है जो शरीर की त्वचा के बहुत फायदेमंद होता है |शरीर की बजन घटाने में भी तुलसी का पौधा बहुत कारगर होता है |

यह भी पढ़े :- कैंसर के लक्षण और इससे बचने के बारे में जाने

तुलसी खाने के फायदे –Benefits of eating basil in Hindi

तुलसी खाने से हमारे शरीर कई रोगों से लड़ने में मदद करता है | अधिकांश भारतीयों लोग अपने घरो के आंगन में तुलसी का पौधा लगते है और उनकी पूजा करते है | आज से लाखो वर्ष पूर्व ऋषि मुनियों को तुलसी के औषधियों गुणों का ज्ञान था | इस पौधों का प्रयोग हम अपने दैनिक जीवन में भी करते है | आइये तुलसी के पौधों के फायदे का विशेष जानकारी विस्तार से जानते है |

औषधियों के भाषा में तुलसी के पत्तियां बहुत ज्यादा गुणकारी मानी जाती है |आप इस पौधों के पत्तियों को खा सकते है | हमारे शरीर में तुलसी की पत्तियों की तरह तुलसी के बीज भी बहुत फायदेमंद होता है | कफ को दूर करने में , पाचन शक्ति ठीक करने में , भूख बढ़ाने में और रक्त को शुद्ध करने में तुलसी का पौधा बहुत उपयोगी होता है |

इसके आलवा इस पौधों के पत्तियों से दिल से जुडी बीमारी , मलेरिया , बुखार , पेट दर्द आदि का इलाज के लिए फायदेमंद है | औषधियों गुणों के अनुसार राम तुलसी की तुलना में श्याम तुलसी को प्रमुख स्थान दिया गया है |

तुलसी के अद्भुत फायदे और उपयोग – Advantages and uses of tulsi in hindi

तुलसी का पौधा एक औषधीय पौधा है , इसमें विटामिन और खनिज अत्याधिक मात्रा में पाया जाता है | इस तुलसी के पौधे में सभी रोगों को दूर करने और शारीरिक शक्ति बढाने वाले गुणों से भरपूर है | तुलसी के पौधों से बहुत फायदे होते है जिसे नीचे विस्तार से बताया गया है –

  • मस्तिष्क के लिए फायदेमंद :- तुलसी के पौधा मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद है | इसको रोजाना सेवन करने से मस्तिष्क की क्षमता बढती है और याददाश्त तेज़ होती है | इसके लिए आपको रोज तुलसी के 4-5 पत्तियां पानी के साथ निगलकर खाए |
  • रतौंधी में लाभदायक :- आजकल के समय में सबसे बड़ी समस्या आँख की बनती जा रही है |कई लोगो को रात के समय स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देती है तो इस समस्या को रतौंधी कहते है |इसे दूर करने के लिए आप तुलसी के पत्ते को निचोरने के बाद जो रस निकलता है उसे आंख में इस्तेमाल करने से समस्या दूर हो सकती है |
  • कान के दर्द में फायदेमंद :- अगर आप में कान सम्बन्धी कोई भी समस्या है तो आप तुलसी के पत्तियों का इस्तेमाल कर सकते है यह कान सम्बन्धी समस्या को आराम दिलाने में असरदार साबित होता है ,इसके लिए आप तुलसी के पत्तो के रस को गर्म कर कान में डालने पर आराम मिलता है |
  • दांत के दर्द में लाभदायक :- दांत के दर्द से आराम दिलाने में तुलसी के पौधा कारगर साबित होता है | दांत में दर्द को आराम दिलाने के लिए आप तुलसी के पत्तों के साथ आप काली मिर्च की गोली बनाकर दांतों के नीचे रखने पर आपके दांतों को आराम मिलता है
  • गला सम्बन्धी समस्या के लिए फायदेमंद :- मौसम में बदलाव के कारण सर्दी , जुकाम होना आम बात है | मौसम में बदलाव के कारण जले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होना शुरू हो जाती है | इसके लिए आप तुलसी के पत्तियों को हल्का गर्म कर गुनगुने पानी से कुल्ला करने पर आराम मिलता है | इसके अलावा इसमें सेंधा नामक युक्त पानी से कुल्ला करने पर मुहं , दांत और गला सम्बन्धी सभी समस्या दूर हो जाती है |
  • पेट की मरोड़ और डायरिया के लिए लाभदायक :- आपके शरीर गलत खानपान और दूषित पानी इस्तेमाल करने पर डायरिया सम्बन्धी रोग के चपेट में आ जाती है | यह बीमारी खाशतौर पर बच्चो में ज्यादा देखने को मिलती है | तुलसी के पत्तियों के सेवन से आप डायरिया और पेट में मरोड़ सम्बन्धी समस्या से आराम पा सकते है |
  • पीलिया में लाभदायक :- पीलिया जिसे कामला के नाम से भी जाना जाता है, एक ऐसी बीमारी है जिसमे सही समय पर इलाज नहीं करबाने पर शरीर पिला पड़ने लगता है और आगे चलकर एक गंभीर समस्या बन जाती है | इस समस्या से बचने लिए आप तुलसी के 4-5 पत्तियों को पिस कर छाछ बना ले और इसका सेवन करे | इससे पीलिया सम्बन्धी रोगियों को आराम मिलता है |
  • पथरी दूर करने में फायदेमंद :- अगर आपके शरीर में पथरी सम्बन्धी समस्या है तो आप तुलसी का सेवन करना फायदेमंद रहता है | इसके लिए आप तुलसी की 4-5 पत्तियों को पीसकर शहद में मिलाकर सेवन करने से पथरी की समस्या कम होती है | चुकिः अगर आपके शरीर में पथरी की समस्या है तो आप नजदीकी डॉक्टर से जाँच करबाए |

बताये गए समस्या के अलावा और कई ऐसी बीमारी है जो तुलसी के सेवन करने से समस्या दूर होती है जिसे नीचे बताया गया है |

  • सिर दर्द में आराम के लिए
  • दमा में आराम के लिए
  • अपच में आराम के लिए
  • मूत्र में जलन से आराम के लिए
  • प्रसव होने के बाद दर्द के आराम में
  • त्वचा रोग में फायदेमंद
  • सफ़ेद दाग दूर करने में
  • मलेरिया में फायदेमंद
  • टाइफाइड में आराम के लिए
  • बुखार में आराम के लिए
  • दाद और खुलजी में आराम के लिए
  • मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करने में
  • सांसो की दुर्गन्ध दूर करने में
  • चेहरे पर निखार के लिए , आदि

तुलसी पौधों के नाम की अलग अलग भाषा | Different language of basil plant names

  • Hindi :- तुलसी , वृन्दा
  • Tamil :- तुलशी
  • Bengali :- तुलसी
  • Gujrati :- तुलसी
  • Telugu :- गग्गेर चेट्टू
  • Sanskrit :- तुलसी , सुरसा , देवदुन्दुभी , सुलभा , गौरी
  • Odia :- तुलसी
  • kannad :- एरेड तुलसी
  • नेपाली :- तुलसी
  • Marathi :- तुलस

तुलसी को लम्बे समय तक सुरक्षित कैसे रखे

अगर आपके घर में या आसपास तुलसी का पौधा है तो आप कोशिश करे की तुलसी की ताज़ी पत्तियां का इस्तेमाल करे | वही अगर आप तुलसी के पत्तियों को लम्बे समय के लिए रखना चाहते है तो आप ये प्रक्रिया अपना सकते है –

  • सबसे पहले आप तुलसी के पत्तियों को डंठल से लगाकर तोड़े |
  • तोड़े गए पत्तियों को धोकर उन्हें साफ कपडे से पोंछ ले |
  • इसके बाद पत्तियों को अलग अलग कर माइक्रोवेव में रख दे |
  • 30 सेकंड में माईक्रोवेव को 2 बार चलाये | टाइम सेट न करे |
  • इसके बाद पत्तियों को बाहर निकलकर चूर्ण बना ले और एक शीशी में रख ले |
  • इसका उपयोग आप लम्बे समय तक कर सकते है |

तुलसी के साइड इफ़ेक्ट / नुकसान | Side effect of Basil in Hindi

अगर आपके दिमाग में यह बात आ रही होगी की तुलसी आपके लिए ज्यादा फायदेमंद है तो ये गलत है | तुलसी के ज्यादा सेवन करने से नुकसान हो सकती है | हर चीज के सेवन का मात्रा सीमित होती है | इसलिए तुलसी के फायदा और नुकसान दोनों को जानना जरुरी है –

  • तुलसी के अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से उसमे उपस्थित एंटीफर्टिलिटी पुरुषो में स्पर्म काउंट कम होने का खतरा बन जाता है |
  • ऐसा कोई ठोस साबुत नहीं है की गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली महिला के लिए यह सुरक्षित है |
  • तुलसी का पौधा रक्त को थक्का बनाने से रोकती है , इसी कारण ज्यादा सेवन करने से रक्त जरुरत से ज्यादा पतला हो सकता है और रक्त स्राव जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है |
  • जो लोग मधुमेह से ग्रसित है उन्हें तुलसी का सेवन नहीं करना चाहिए |

अब आप समझ ही गए होंगे की लोग तुलसी को इतना ज्यादा महत्त्व क्यों देते है | भारतीय सभ्यता में तुलसी को लोग पूजा करते है इसे पवित्र पौधा माना गया है | साथ ही साथ यह औषधि में भी काम आता है | अगर आपके घर में या आसपास में तुलसी का पौधा नहीं है तो इसे अवश्य लगाये |

इस लेख में हमने आपको Benefits of eating basil तुलसी खाने के फायदे और उसके नुकसान के बारे में बताया हूँ | मैं आशा करता हु की आपको मेरी ये पोस्ट अच्छी लगी होगी तो आप इसे शेयर जरुर करे ताकि उन्हें भी तुलसी खाने के फायदे की जानकारी मिल सके | इस तरह की और जानकारी के लिओये आप मेरे वेबसाइट www.24hourhindi.in पर विजिट कर सकते है |

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

धन्यबाद !!!

Leave a Comment